दिल ना जानेया Dil Na Jaaneya

0
546

बाते बातों में शाम हुई
राते ख्वाबों के नाम हुई
तारे कहानी बुनते रहे

आँखें आँखें ये भोली भोली
बोले बोले ये कैसी बोली
बैठे दोनों सुनते रहे

ये चलती हवाएं ले जाएं कहाँ
ये एक दूजे के जाने बिना
कब दो दिलों की हुई यारियां

दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया

दूरी तेरे बिना ये भी अधूरी
हो के जुदा मुझसे क्या तू भी
देखे मेरी ही राह

जैसे जीने को सासें हैं ज़रूरी
हिन्दीट्रैक्स डॉट इन
मेरे होने की वजह तू ही
जाने कैसे हुआ

आ चल ना भुलाये नाराज़ीयाँ
के एक दूजे के माने बिना
कब दो दिलों की हुई यारियां

दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया
दिल ना जानेया ना जानेया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here