उम्मीद बनके लोग जिंदगी में आते हैं

0
193
Hindi Shayari

उम्मीद बनके लोग जिंदगी में आते हैं

ख्वाब बनके आंखों में समा जाते हैं

पहले तो याकिन दिलाते हैं की ओ हमारे है

फिर ना जाने क्यों हमें तन्हा छोड जाते हैं।

(क्या यही प्यार है)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here