फिर भी तुमको चाहूंगी-Phir Bhi Tumko Chaahunga

बाहों में तेरी आके लगा मेरा सफ़र यहीं तक है तुमपे शुरु तुमपे ही ख़तम मेरी कहानी तुम्ही तक है दिल को जो दे राहत सी तुझमे है वो ख़ामोशी सौ बार तलाश लिया खुदको कुछ तेरे सिवा न मिला मुझको साँसों से रिश्ता तोड़ भी लूं तुमसे तोड़ ना पाऊँगी.. हम्म.. मैं फिर भी … Read more